गर्भवती महिलाओं द्वारा कष्ट झेलना अभी भी है जारी लॉकडाउन के दौरान विभिन्न न्यायालयों में 112 मामलों की सुनवाई हुई और इनमें से 62 मामले बॉम्बे उच्च न्यायालय में सुने गए  1.3 वर्षों के दौरान विभिन्न उच्च न्यायालयों में 243 गर्भपात मामले दर्ज कराए गए बल्कि उससे पिछले तीन वर्षों में केवल 175 मामले दर्ज […]



0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top