देहरादून : कांग्रेस नेता ने कहा कि सहसपुर में कई साल से जनता के घोर विरोध के बाद भी बीमारी और प्रदूषण का अड्डा बन चुका ट्रंचिंग ग्राउंड नहीं हटाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह प्रदूषण का कारण तो बन ही रहा है। साथ ही बुजुर्गों, बच्चों और महिलाओं के लिए बीमारी का कारण भी बना हुआ है। उन्होंने कहा कि सरकार को अपनी गलति सुधार लेने चाहिए। अगर सरकार ने इस पर जल्द कोई निर्णय नहीं लिया, तो बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि बीते कई सालों से सहसपुर की गली-गली जाकर लोगों की समस्याएं सुनी और समझी हैं। लोग स्थानीय विधायकों से परेशान हो चुके हैं। आरोप लगाया कि विधायक ना तो जनता से मिलते हैं और ना उनकी समस्याओं का समाधान करते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार को ट्रंचिंग ग्राउंड को यहां से हटाकर कहीं दूसरी जगह स्थापित करना चाहिए।

आजाद अली ने कहा कि सहसपुर में पहले से ही लोग ट्रंचिंग ग्राउंड से परेशान हैं। अब सरकार यहां पशु निस्तारण गृह बनाने की भी योजना बना रही है। उन्होंने कहा कि ऐसा क्या है कि सरकार गंदगी के निस्तारण के लिए सहसपुर विधानसभा को ही चुन रही है। उन्होंने कहा कि सहसपुर के जनप्रतिनिधि सभी मुद्दों पर चुप्पी साधे हुए है, जिसका खामियाजा जनता को भुगतना पड़ रहा है। साथ ही कहा कि जनता के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा।

The post उत्तराखंड : जब तक जिंदा हूं, इस शहर को बर्बाद नहीं होने दूंगा, जानें किसने कहा ? first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top