मुनस्यारी: BRO ने पिथौरागढ़ जिले के मुनस्यारी क्षेत्र के धापा-मिलम निर्माणाधीन मार्ग पर जिमिघाट के पास 150 फीट लंबा बैली ब्रिज केवल सात दिन में बनाकर दिखाया। इस पुल के बनने से सेना को बड़ी मदद मिलेगी। इसी पुल के जरिए चीन सीमा तक सेना के जवानों के लिए रसद और अन्य सामान ले जाने में आसानी रहेगी। साथ ही मल्ला जोहार के ग्रामीणों को राहत मिलेगी।

चीन सीमा पर स्थित मिलम के लिए इस समय सड़क निर्माण का काम चल रहा है। इस सड़क पर जिमिघाट में बना बैली ब्रिज 18 जुलाई की आपदा में टूट गया था। इसके चलते जिमिघाट से आग के लिए वाहनों की आवाजाही बंद हो गई थी। वाहनों का संचालन नहीं होने से लोगों के साथ ही सेना और अर्द्धसैनिक बलों के जवानों को भी पैदल आवागमन करना पड़ रहा था।

मंगलवार को बीआरओ ने नया बैली ब्रिज तैयार कर लिया है। 150 फीट लंबे इस पुल से हल्के वाहन गुजरने लगे हैं। इस बैली ब्रिज के बनने से मल्ला जोहार के 13 गांवों के लोगों के साथ ही आईटीबीपी और सेना के जवानों को आवागमन में सुविधा होगी। ग्रिफ के एक अधिकारी ने बताया कि पहले यह पुल 140 फुट लंबा था। अब इस पुल की लंबाई दस फुट बढ़ाई गई है। क्षतिग्रस्त पुल को सात दिन में 15 मजदूरों ने तैयार किया। पुल से अभी केवल छोटे वाहनों का संचालन किया जा रहा है। BRO built 150 meter long bridge

The post गजब : BRO ने 7 दिन में बना दिया 150 मीटर लंबा पुल, सेना के लिए बेहद महत्वपूर्ण first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top