नई दिल्ली : सर्दियों में कोरोना वायरस का प्रसार फिर से बढ़ सकता है। कोरोना के इस दूसरे पीक को लेकर सरकार ने तैयारियां भी शुरू कर दी हैं। एक ओर सरकार प्रसार को रोकने के लिए जनांदोलन चला रही है। वहीं गंभीर मरीजों को ऑक्सीजन उपलब्ध कराने को लेकर सरकार ने एक लाख मीट्रिक टन ऑक्सीजन विदेशों से खरीदने की योजना बनाई है। इसे लेकर एक टेंडर भी जारी किया गया है।

मंत्रालय से मिली जानकारी के अनुसार 10 अक्तूबर को कैबिनेट सचिव के साथ बैठक में ऑक्सीजन की उपलब्धता को लेकर चर्चा की गई थी, जिसके बाद यह तय किया गया कि विदेशों से एक लाख मीट्रिक टन ऑक्सीजन को खरीदा जाए। प्रतिक्रिया में करीब एक से डेढ़ माह का वक्त लग सकता है। हालांकि वर्तमान स्थिति को देखें तो ऑक्सीजन पर्याप्त है, लेकिन आगामी त्योहार के दिनों के साथ सर्दियों के चलते एहतियात भी जरूरी है।

देश में फिलहाल एक दिन में सात हजार मीट्रिक टन ऑक्सीजन उत्पादन की क्षमता है, जिसमें से करीब 3094 टन ऑक्सीजन कोरोना और अन्य मरीजों के लिए इस्तेमाल हो रही है। जबकि लॉकडाउन से पहले तक देश में रोजाना छह हजार मीट्रिक टन ऑक्सीजन उत्पादन की क्षमता थी, जिसमें एक हजार मीट्रिक टन ऑक्सीजन का इस्तेमाल मरीजों के लिए किया जा रहा था। लॉकडाउन के दौरान बढ़े संक्रमित मरीजों के चलते ऑक्सीजन की मांग तीन गुना अधिक बढ़ गई है। ऐसे में सरकार का मानना है कि अनलॉक में में मरीजों को ऑक्सीजन की दिक्कत न हो, इसलिए पहले से ही उसकी तैयारियां शुरू कर दी हैं।

The post बड़ी खबर : सर्दियों में बढ़ सकता है कोरोना, ये है सरकार की तैयारी first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top