देहरादून : थाना कोतवाली पुलिस ने संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा गैंग के शार्प शूटर को गिरफ्तार किया। बता दें कि 19 अक्टूबर को आरोपियों ने लूट की घटना को अंजाम दिया था और फरार हो गए थे। आज पुलिस ने जीवा गैंग के शार्प शूटर समेत तीन को गिरफ्तार किया। खास बात ये है कि आरोपियों ने बड़ी लूट के इरादे से घटना को अंजाम दिया लेकिन जब बैग खोला तो उसमे से खाली टिफिन निकला। फिर आरोपी बैग को फेंककर फरार हो गए।

19 अक्टूबर को दिया था घटना को अंजाम

बता दें कि 19 अक्टूबर की रात दून चौक के पास तीन अज्ञात बाइक सवारों ने एक मेडीकल शाॅप के मालिक को तमंचा दिखाकर उसका बैग छीनकर फरार हो गए थे। मेडीकल शाॅप के मालिक गौरव भार्गव ने पुलिस को तहरीर दी थी। डीआईजी ने टीमें गठित कर आरोपियों की जल्द से जल्द धड़पकड़ के निर्देश दिए। सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए और साथ ही कई अपराधियों को हिस्ट्री खंगाली गई। वहीं पुलिस टीम को मुखबिर से सूचना मिली सीसीटीवी फुटेज में दिखाई दे रहे आरोपी का हुलिया मुजाहिद उर्फ खान नाम के आरोपी से मिलता पाया गया। पुलिस को जानकारी मिली कि ये आरोपी संजीव महेश्वरी उर्फ जीवा गैंग का शार्प शूटर है औऱ वर्तमान में जमानत पर जेल से बाहर है और देहरादून में डालनवाला क्षेत्र में रह रहा है।

तीनों आरोपियों को यहां से किया गिरफ्तार

वहीं इसके बाद आरोपियों के डालनवाला क्षेत्र में जाने की फुटेज मिली। पुलिस को सूचना मिली कि दून चैक के पास हुई लूट की घटना को अंजाम आरोपी मुजाहिद ने अपने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर दी है। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने आरोपी मुजाहिद उर्फ खान को उसके दो अन्य साथियों कलीम अहमद और तरूण तिवारी के साथ पंत रोड से गिरफ्तार किया गया। पुलिस को मुजाहिद के पास से एक देसी पिस्टल व जिंदा कारतूस और अभियुक्त कलीम व तरूण तिवारी के पास से एक-एक अदद खुखरी बरामद हुई। अभियुक्तों की निशानदेही पर पुलिस टीम द्वारा घटना में लूटा हुआ सामान बरामद किया गया। अभियुक्तों को आज मां0 न्यायालय के समक्ष पेश किया जा रहा है।

एक छात्र नेता पिन्टू की हत्या की थी-आरोपी

पूछताछ में आरोपी मुजाहिद उर्फ खान ने बताया कि वो हरिद्वार बाईपास रोड पर रेता बजरी सप्लायर का काम करता था। उसने संजीव महेश्वरी उर्फ जीवा के बारे में काफी कुछ सुना था। 2013 में वो उससे मिलने बाराबंकी गया। जीवा से मुलाकात कर उसके गैंग में शामिल। साल 2015 में जीवा के कहने पर उसने गैंग के एक अन्य साथी अजय सिंह उर्फ बबलू के साथ मिलकर लखनऊ में एक छात्र नेता पिन्टू की हत्या की थी। जिसमें मुझे और अजय को लखनऊ पुलिस द्वारा जेल भेजा गया था, जेल में 07 महीने रहने के बाद जीवा द्वारा मेरी जमानत कराई।

हरिद्वार में एक व्यक्ति सुभाष सैनी की हत्या की सुपारी दी-आरोपी

बताया कि 2017 में जीवा ने उसे हरिद्वार में एक व्यक्ति सुभाष सैनी की हत्या की सुपारी दी और इसके लिये विक्की ठाकुर नाम के एक व्यक्ति को भेजा, जो मुझे सुभाष सैनी से मिलवाने वाला था। उस समय विक्की ठाकुर की निशानदेही पर उसने गलती से सुभाष सैनी के स्थान पर गोल्डी नाम के एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी जिसमें हरिद्वार पुलिस ने मुझे जेल भेजा था। साल 2019 में जीवा ने ही मेरी उक्त मामले में जमानत कराई थी। किसी भी घटना को करने के बाद पकडे जाने पर जीवा द्वारा हमारी जमानत का सारा इंतेजाम करता था।

पैसे न मिलने के कारण मैं काफी आर्थिक तंगी से गुजर रहा हूं-आरोपी

बताया कि हमे घटना को अंजाम देने के लिए पैसे दिए जाते थे। पिछले करीब एक साल से जीवा लखनऊ में एक नेता की हत्या के आरोप में लखनऊ जेल में बंद है, जिस कारण जमानत पर छूटने के बाद से मेरा उससे सम्पर्क नही हो पाया और पैसे न मिलने के कारण मैं काफी आर्थिक तंगी से गुजर रहा हूं।

दून चौक के पास ऐसे दिया घटना को अंजाम

आरोपी ने बताया कि फिर 2019 में जमानत पर बाहर आने के बाद दून अस्पताल में उसकी मुलाकात कलीम अहमद से हुई, जो दून अस्पताल के बाहर प्राइवेट एम्बुलेंस चलाने का कार्य करता था और वर्तमान में कोरोनेशन अस्पताल से प्राइवेट एम्बुलेंस चला रहा है। अक्सर वो शराब पीते थे। आरोपी ने बताया कि कुछ समय पहले उसने अपनी आर्थिक तंगी के बारे में कलीम को बताया तो उसने बताया कि दून चैक के पास एमएस मेडीकोज नाम की एक दवाई की दुकान है, जिसका मालिक अपने वाहन को दून अस्पताल की पार्किंग में खडा करता है और रात में दुकान बन्द करने के बाद दिन भर की सारी कमाई को एक बैग में रखकर पैदल दून अस्पताल की पार्किंग तक आता है। और इससे पहेल घटना को अंजाम दिया जा सकता है।

पैसे के जगह बैग में निकली ये चीज

आरोपी ने बताया कि 19 अक्टूबर की रात तीनों ने तमंचे के बल पर लूट को अंजाम दिया और बैग लेकर फरार हो गए। लेकिन बैग में टिफिन निकला जिसे वो फेंक कर फरार हो गए।

पुलिस टीम

उ0नि0 नरेश राठौर, प्रभारी साइबर सैल, उ0नि0 शिशुपाल राणा, चौकी प्रभारी धारा, उ0नि0 लोकेन्द्र बहुगुणा, चौकी प्रभारी लक्ष्मण चौक, उ0नि0 दीपक धारीवाल, पुलिस अधीक्षक नगर कार्यालय, कां0 लोकेन्द्र, कां0 राजमोहन, कां0 रविशंकर, कां0 नवीन, कां0 अरशद, कां0 प्रमोद, कां0 अमित (एसओजी) शामिल थे।

नाम/पता गिरफ्तार अभियुक्त:-

मुजाहिद उर्फ साहिल उर्फ मनोज उर्फ पप्पू उर्फ खान पुत्र स्व0 मुख्तार अहमद निवासी: पंचपुरी, एमडीडीए कालोनी, डालनवाला, उम्र 24 वर्ष

कलीम अहमद उर्फ बिल्लू पुत्र शहीद अहमद निवासी: शान्ति विहार रायपुर,  मूल निवासी: सहारनपुर, उत्तर प्रदेश

तरूण तिवारी पुत्र स्व0 भगवती प्रसाद निवासी: सरस्वती विहार नेहरू कालोनी मूल निवासी: लखीमपुर खीरी, उत्तर प्रदेश।

The post Welldone दून पुलिस : बड़ी लूट का सोचकर दिया था घटना को अंजाम, बैग खोला तो निकली थी ये चीज first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top