कोरोना का असर दिवाली के साथ छठ पूजा पर भी दिखा। बता दें कि देहरादून और हरिद्वार जिला प्रशासन ने छठ पूजा पर पाबंदियां लगाई है जिससे छठ पूजा की रौनक फीकी पड़ गई है. बता दें कि हरिद्वार और देहरादून जिला प्रशासन ने इसके लिए दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। देहरादून में अपर जिला मजिस्ट्रेट (वित्त एवं राजस्व) बीर सिंह बुदियाल ने जारी आदेश में कहा कि कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है। इसी को देखते हुए नदियों, घाटों और नहरों में सामूहिक सूर्य अर्घ्य पूजन की अनुमति नहीं दी गई है।

इस आदेश के बाद श्रद्धालुओं को अपने घरों में ही पूजा करनी होगी और सूर्य अर्घ्य देना होगा।प्रशासन द्वारा इसके लिए एसओपी जारी कर दी गई है। एसओपी के तहत श्रद्घालु नदी किनारे घाटों, नहरों या सार्वजनिक स्थानों पर छठ पर्व का आयोजन करने के बजाय अपने-अपने घरों में पूजन एवं अर्घ्य देंगे। इसी के साथ सभी श्रद्धालुओं को कोविड-19 से बचाव के लिए दो गज की दूरी बनाए रखना आवश्यक है।इस दौरान मास्क पहनना अनिवार्य होगा। कंटेनमेंट जोन में छठ पूजा का आयोजन पूर्णत: प्रतिबंध रहेगा। सभी श्रद्धालु छठ पूजा के कार्यक्रम के दौरान अधिक संख्या में घरों में एकत्र न हों।

साथ ही 10 वर्ष से कम आयु के बच्चों का छठ पूजा के कार्यक्रम के दौरान विशेष ध्यान रखा जाए। 65 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का स्वास्थ्य हित में इस कार्यक्रम से दूरी बनाए रखना उचित होगा।

The post छठ पूजा की रौनक पड़ी फीकी, हरिद्वार और देहरादून जिला प्रशासन ने आदेश किया जारी first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top