देहरादून: उत्तराखंड कांग्रेस में घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। कांग्रेस में हरीश रावत गुट ने भाजपा सरकार और पूर्व सीएम हरीश रावत के कार्यकाल की तुलना करते हुए एक वीडियो जारी किया था। हल्द्वानी में पत्रकार वार्ता भी की गई थी। उसमें चुनाव हरीश रावत के नेतृत्व में लड़ने की मांग की गई थी। उसके बाद यह बातें भी सामने आने लगी थीं कि प्रदेश कांग्रेस में बदलाव किया जा सकता है। इसको लेकर अब कांग्रेस की सफाई सामने आई है।

कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी में किसी प्रकार का ना तो परिवर्तन हो रहा है, ना ही अभी पार्टी किसी को मुख्यमंत्री के रूप में प्रोजेक्ट कर रही है। उन्होंने कहा कि इस समय पार्टी संगठन का पूरा ध्यान जनता से जुड़े अहम मुद्दों बेरोजगारी व महंगाई के खिलाफ व्यापक जन संघर्ष करने पर है और इसी के तहत प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह पूरे राज्य का व्यापक दौरा कर रहे हैं।

धस्मान ने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष खुद फ्रंटफुट पर राज्य भर के अलग-अलग जिलों में संघठन के आंदोलन और कार्यक्रमों में शामिल हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य का हर वर्ग आज त्रिवेंद्र सरकार की युवा विरोधी, किसान विरोधी, छात्र विरोधी, महिला विरोधी नीतियों से आक्रोशित हैं। लोगों की उम्मीद अब कांग्रेस से है।

इसलिए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह की पहली प्राथमिकता लोगों की उम्मीदों के अनुरूप जनता को भ्रष्ट त्रिवेंद्र सरकार से छुटकारा दिला कर राज्य में कांग्रेस सरकार बनवाना है। धस्माना ने कहा कि सरकार कांग्रेस की बने सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं की यह भावना होनी चाहिए और मुख्यमंत्री कौन बनेगा इसकी चिंता कांग्रेस हाई कमान पर छोड़ देनी चाहिए। क्योंकि अभी से मुख्यमंत्री कौन होगा? इसकी बहस कर जनता में यह गलत संदेश जाता है कि सारी चिंता मुख्यमंत्री बनने की हो रही है।

The post उत्तराखंड : कांग्रेस में कप्तानी का घमासान, चुनाव से पहले CM बनने की होड़ first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top