नई दिल्ली: आयकर विभाग ने एक अप्रैल 2020 से एक दिसंबर 2020 तक चालू वित्त वर्ष में 59.68 लाख से अधिक करदाताओं को 1,40,210 लाख करोड़ रुपये का रिफंड जारी किया है। आयकर विभाग ने बताया कि 57,68,926 मामलों में 38,105 करोड़ रुपये का व्यक्तिगत आयकर रिफंड जारी किया गया है। वहीं, 1,99,165 मामलों में 1,02,105 करोड़ रुपये का कॉरपोरेट कर रिफंड किया गया है।

कोरोना महामारी संकट काल के समय करदाताओं के लिए ये राहत की बात है। आयकर विभाग ने कहा था कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा आत्मनिर्भर भारत योजना की घोषणा किए जाने के बाद से रिफंड वापसी की प्रक्रिया को तेज कर दिया गया है। इस साल किसी को भी आयकर विभाग को रिफंड के लिए रिक्वेस्ट नहीं करनी पड़ी। सीबीडीटी ने कहा कि सभी टैक्सपेयर्स तुरंत ही ईमेल का जवाब दें, ताकि जिनको रिफंड नहीं मिल सका है, उन्हें भी इसका लाभ मिल जाए।

प्रक्रिया पूरी तरह से ऑनलाइन की गई। करदाता अपने आयकर रिफंड की मौजूदा स्थिति जानने के लिए आयकर विभाग के ई-फाइलिंग पोर्टल अथवा एनएसडीएल की वेबसाइट पर जा सकते हैं। हालांकि, रिफंड के लिए आपका खाता पैन से जुड़ा होना जरूरी है। आयकर विभाग ने घोषणा की थी कि एक मार्च 2019 से केवल ई-रिफंड ही जारी किया जाएगा। यह केवल उसी बैंक खाते में जमा होगा जो पैन कार्ड से लिंक है और जिसका विभाग के ई-फाइलिंग पोर्टल पर पूर्व सत्यापन हो चुका है।

The post लाखों करदाताओं को आयकर विभाग ने दी बड़ी राहत, 1.40 लाख करोड़ का रिफंड first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top