अल्मोड़ा : नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमा पर पिछले 12 दिनों से प्रदर्शन कर रहे किसानों ने आज ‘भारत बंद’ का आह्वान किया है। देश के अधिकतर राज्यों में बंद का मिला जुला असर देखने को मिला है। कहीं से भी बड़े उपद्रव की जानकारी सामने नहीं आई है। कुछ राज्यों को छोड़कर देश भर में सुबह के पीक-आवर ट्रैफिक मूवमेंट सामान्य रहा। दिल्ली और अन्य कई राज्यों में सब्जी मंडियों में आंशिक ‘ प्रभाव देखने को मिला। कांग्रेस समेत कई विपक्षी दल इस बंद का समर्थन कर रहे हैं। वहीं उत्तराखंड में भी इसका मिला जुला असर देखने को मिला।

बात करें देहरादून की तो देहरादून समेत कई मैदानी जिलों में भारत बंद का मिला जुला असर देखने को मिला। उधमसिंह नगर में इसका व्यापक असर देखा गया। पिथौरागढ़ और बागेश्वर में असर नहीं दिखा. अल्मोड़ा में भी भारत बंद का असर बेअसर रहा। अल्मोड़ा समेत पिथौरागढ़ और नैनीताल में भारत बंद का असर बेअसर रहा। दुकानें खुली रहीं. बाजार में चहल पहल रही। सभी बैंक दफ्तर खुले रहे।नगर व्यापार मंडल ने बीते दिन बाजार खुला रखने की घोषणा की थी जिसका असर दिखा.

देहरादून में कांग्रेस ने किसान बिल का विरोध किया और घंटाघर पर धरना दिया। वहीं बात करें उधमसिंह नगर और गदरपुर में भारत बंद का व्यापक असर दिखा। बाजार बंद रहे। सड़कें खाली रही। किसानों ने विरोध किया।रुद्रपुर में सन्नाटा पसरा रहा। मुख्य चौराहों पर पुलिस बल तैनात रहा। भारत बंद और किसान आंदोलन को रुद्रपुर के व्यापारियों, मजदूरों, सिख संगठन और पेट्रोलियम एसोसिएशन ने अपना समर्थन दिया है।

The post उत्तराखंड के पहाड़ी जिलों में भारत बंद का आह्वान रहा बेअसर, यहां दिखा व्यापक रुप first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top