देहरादून: उत्तराखंड में 159 थाने हैं। इनमें से 158 थानों में सीसीटीवी कैमरे लग चुके हैं। राज्य में एक मात्र थाना है, जिसमें अभी सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे हैं। यह जानकारी दो दिन पहले सुप्रीम कोर्ट ने देशभर के थाने, चौकियां, सीबीआई से लेकर अन्य जांच एजेंसियों के दफ्तरों में सीसीटीवी कैमरे लगाने के निर्देश दिए जाने के बाद सामने आर्द है।

उत्तराखड पुलिस मुख्यालय अगले सप्ताह इन सीसीटीवी कैमरों की गुणवत्ता की समीक्षा करेगा। इसके बाद जरूरत पड़ी तो नाइट विजन, ऑडियो आदि जैसे सुधार भी किए जाएंगे। सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार हर थाने में इनकी संख्या कम से कम चार होनी चाहिए, जिससे वहां होने वाले हर इंटेरोगेशन और अन्य हरकतों को रिकॉर्ड किया जा सके।

उच्चतम न्यायाल ने इन कैमरों में नाइट विजन सुविधा के साथ-साथ ऑडियो रिकॉर्डिंग सुविधा को होना भी अनिवार्य किया है। साथ ही मेमोरी कम से कम 18 महीने की होनी चाहिए। जरूरत पड़ने पर इनकी रिकॉर्डिंग को देखा जा सके।डीजीपी अशोक कुमार ने बताया कि सेलाकुई थाने को छोड़कर सभी थानों में चार-चार सीसीटीवी कैमरे लगे हैं।

सेलाकुई थाना इसी साल अस्तित्व में आया था। उन्होंने बताया कि गुणवत्ता की समीक्षा सात दिसंबर को की जाएगी। सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार जिन गुणवत्ता वाले कैमरों को इंस्टाल करना है उन्हें किया जाएगा। यदि कहीं बढ़ोतरी की आवश्यकता है तो वह भी की जाएगी। चौकियों में भी सीसीटीवी कैमरे लगवाए जाएंगे।

The post उत्तराखंड : एक थाना, जिसमें नहीं लगे CCTV कैमरे, चौकियों का ये है हाल first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top