मुंबई: महाराष्ट्र के भंडारा दिल दहलाने वाला मामले सामने आया है. यहां के जिला अस्पताल में शुक्रवार देर रात विशेष नवजात देखरेख इकाई में आग लगने से 10 नवजात बच्चों की जलकर मौत हो गई. डॉक्टरों ने यह जानकारी दी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने महाराष्ट्र अस्पताल अग्निकांड पर दुरूख व्यक्त किया.​ डॉक्टर ने बताया कि नवजात बच्चों की उम्र एक महीने से तीन महीने के बीच थी. जिला सिविल सर्जन प्रमोद खंडाते ने बताया कि भंडारा जिला अस्पताल में शुक्रवार देर रात एक बजकर 30 मिनट के आसपास आग लग गई. इकाई में 17 बच्चे थे, जिनमें से सात को बचा लिया गया.

सबसे पहले एक नर्स ने अस्पताल के शिशु देखभाल विभाग से धुआं उठते देखा, जिसके बाद डॉक्टरों और अन्य कर्मचारियों को खबर की गई. इकाई के ‘इनबाउंड वार्ड’ से सात बच्चों को दमकल कर्मियों ने सुरक्षित बाहर निकाल लिया लेकिन 10 बच्चों को बचाया नहीं जा सका.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भंडारा जिला अस्पताल में आग लगने की घटना में नवजात बच्चों की मौत पर दु:ख व्यक्त करते हुए मामले की जांच के आदेश दिए हैं. मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से जारी बयान के मुताबिक, घटना की जानकारी मिलने के तुरंत बाद ठाकरे ने स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे से बातचीत की. उन्होंने जिला कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक से बातचीत करके उन्हें जांच करने के लिए कहा है.पीएम मोदी ने ट्वीट किया, ‘महाराष्ट्र के भंडारा में दिल दहला देने वाला हादसा, जहां हमने अनमोल मासूमों को खो दिया. मेरी सहानुभूति सभी शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं. आशा करता हूं कि घायल जल्द से जल्द ठीक हो जाएं.

The post बड़ी खबर: अस्पताल में लगी भीषण आग, जिंदा जले 10 मासूम बच्चे first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top