उत्तरकाशी : सोशल मीडिया पर उत्तरकाशी नौगांव के एक बेटे और उसके परिवार को आपके मदद की जरुरत है। कई लोग मदद के लिए आगे भी आए हैं। बता दें कि करीबन 26-27 साल के प्रवक्ता संदीप उनियाल की स्थिति गंभीर बनी हुई है। उनके मस्तिष्क पर क्लॉटिंग हो गई है। संदीप को सिनर्जी अस्पताल, देहरादून में भर्ती कराया गया है जिनको वहां एक महीने से अधिक का समय हो गया है। संदीप वेंटीलेटर में हैं और स्थिति गंभीर बनी हुई है। संदीप का परिवार अब उस स्थिति में नहीं है कि अस्पताल का खर्चा उठा सके। अभी तक लाखों रुपये खर्च हो चुके हैं लेकिन स्थिति गंभीर बनी हुई है। वहीं अब सोशल मीडिया पर संदीप और उसके परिवार की मदद के लिए मुहिम छिड़ गई है। लोग मदद के लिए आगे आए हैं। फेसबुक पर भी मदद की जा रही है।
दिल छू लेने वाली फेसबुक पोस्ट
सोशल मीडिया पर मदद की गुहरा लगाई जा रही है। पोस्ट लिखी है कि गोविंद प्रसाद उनियाल की जिन्होंने आज तक अपने जीवनकाल में अत्यधिक गरीबी का दंश झेला है और दिन-रात ध्याड़ी-मजदूरी तथा लोगों के पत्थर तोड़-तोड़ कर प्राप्त आय में से अपना पेट काटकर अपने परिवार के लालन-पालन के साथ ही अपने बच्चों की पढ़ाई-लिखाई पूरी कराने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी। और ऊपर वाले ने जब उनकी तरफ नज़र फेरी तो गत वर्ष (२०१९ के अन्त में) उनका सुपुत्रसंदीप उनियाल ग्राम-दारसौं, विकासखंड-नौगांव जिला-उत्तरकाशी, उत्तराखंड लोक सेवा आयोग से प्रवक्ता (राजनीतिक विज्ञान) के पद पर चयनित होकर अपने पिता के सपनों को पूरा करने में कामयाब हुए। गरीब पिता ने चैन की सांस ली और ऊपर वाले से धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि आपने जो अग्नि परीक्षा ली थी मैं उसमें बिना रुके, बिना थके मुकाबला कर सफल होने में कामयाब रहा हूं। परिवार ने सुखमय जीवन का रसपान करना शुरू ही किया था कि न जाने किस दुश्मन की कुदृष्टि इस हंसते-खेलते परिवार पर पड़ी।
जानकारी संदीप उनियाल प्रवक्ता रा0इ0का0 मंदार, जाखणीधार, टिहरी गढ़वाल; मष्तिष्क में क्लॉट बन जाने के कारण बिगत एक महीने से सिनर्जी हॉस्पिटल देहरादून में वेंटिलेटर पर जीवन और मौत के बीच जंग लड़ रहे हैं। उनकी हालत काफी नाजुक बनी हुई है। स्थिति ऐसी आ चुकी है कि अब हॉस्पिटल का खर्च वहन करना परिवार के लिए संभव नहीं हो पा रहा है। अतः जो पिता अपने बेटे की कामयाबी पर खुद को गौरवान्वित महसूस कर अपने पुराने कर्ज़पात निपटाते हुए इस मृत्युलोक के वास्तविक जीवन को जीना शुरू किए ही थे वो पुनः घुटनों के बल आकर व्यथित मन से आपसे अपने बेटे के जीवन बचाने में मदद की अपील कर रहे हैं।
सभी फेसबुक मित्रों और उन प्रबुद्ध जनों, जिन तक यह संदेश पहुंच रहा है से विनम्र निवेदन है कि एक निस्सहाय पिता की अपील को स्वीकार कर यथासंभव आर्थिक मदद करते हुए इस डूबते परिवार की नौका पार लगाने में अपना सहयोग प्रदान कर अपने मानवीय धर्म निर्वहन का परिचय देने की कृपा करेंगे। हो सकता है आपकी छोटी सी मदद से किसी घर का बुझता चिराग प्रकाशमान हो उठे और परिवार इस मृत्युलोक के वास्तविक सुख को भोग सके।
मित्रों! जब ‘बाबा के ढाबे’ की सूरत बदल सकती है तो एक गरीब परिवार का सूरज डूबने से क्यों नहीं बच सकता।
साथियों! आज के इस आधुनिकता के युग में भी यदि हमारा कोई शिक्षक साथी हमें सिर्फ ‘धन की कमी’ के कारण छोड़कर चले जाते है तो यह हम सब के माथे पर एक काला धब्बा होगा।
अतः आप सभी से पुनः विनम्र निवेदन है कि आप इस निस्सहाय परिवार की यथासंभव मदद करने की कृपा अवश्य करेंगे।
आप नीचे दिए गए खाते में सीधे आर्थिक मदद कर सकते हैं। सन्दीप भाई का फोन नंबर (गूगल पे हेतु) व बैंक खाता संख्या निम्नांकित है-
गूगल पे हेतु फोन नम्बर- 8755436233
Name- Sandeep Prasad
Ac No. 6408001500006477
Branch- P.N.B.Barkot
IFSC CODE- PUNB0640800
पूर्ण आशा और विश्वास के साथ
सादर धन्यवाद।

The post उत्तराखंड के बेटे को है आप सब की मदद की जरुरत, 1 महीने से हैं वेंटिलेटर पर, खर्च हो चुके हैं लाखों रुपये first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top