किसानों का आंदोलन एक बार फिर रफ्तार पकड़ता दिखाई दे रहा है। जी हां भाकियू की कमान संभाल रहे राकेश टिकैत के बयान और रोने के वीडियो वायरल होने के बाद एक बार फिर से किसान बॉर्डर में जुटने लगे हैं। आंदोलन फिर रफ्तार पकड़ता दिखाई दे रहा है। राकेश टिकैत के आंसुओं के सैलाब से किसानों में जोश आया है. पश्चिमी यूपी और हरियाणा के अलग-अलग इलाकों से किसान गाजीपुर बॉर्डर पर जुटने लगे हैं. एक बार फिर किसानों के आंदोलन में लंगर शुरू हो गया है. वहीं, आज देशभर की निगाहें मुजफ्फरनगर में होने वाली महापंचायत पर भी है.

वहीं बता दें कि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने किया राकेश टिकैत के समर्थन का ऐलान कहा, हम पूरी तरह से किसानों के साथ हैं. आपकी माँगे वाजिब हैं. किसानों के आंदोलन को बदनाम करना, किसानों को देशद्रोही कहना और इतने दिनों से शांति से आंदोलन कर रहे किसान नेताओं पर झूठे केस करना सरासर ग़लत है. वहीं दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे।एएनआई ने ट्वीट कर जानकारी दी कि उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया गाज़ीपुर बॉर्डर पर किसानों के प्रदर्शनस्थल पर पहुंचे। उन्होंने कहा कि किसान नेताओं ने सीएम से पानी, बिजली और टॉयलेट्स की सुविधा के लिए निवेदन किया था। रात को ही यहां व्यवस्था कर दी गई थी। मैं निरीक्षण करने आया हूं कि कोई दिक्कत तो नहीं आ रही।”

The post राकेश टिकैत के आंसू देख आंदोलन में फिर जुटने लगे किसान, केजरीवाल ने की पानी-बिजली और टॉयलेट्स की व्यवस्था first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top