काशीपुर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले दिनों संसद में भाषण के दौरान आंदोलनजीवी और परजीवी शब्द कहे थे, जिसको लेकर किसान नाराज हैं। किसानों ने पीएम मोदी के विरोध में अपनी फसल नष्ट करने का फैसला लिया है। ऊधमसिंह नगर जिले के काशीपुर में ग्राम बांसखेडा निवासी किसान अवतार सिंह ने अपने खेत में खड़ी गेंहू की फसल पर ट्रैक्टर चला दिया।

उनके खेतों में गेहूं की फसल पकने को तैयार थी। अवतार सिंह ने 25 एकड़ में गेहूं की फसल को और कुलवंत सिंह ने मेथी की फसल को ट्रैक्टर से बर्बाद कर दिया। फसल बर्बाद करने की बात सुनते ही मौके पर बड़ी संख्या में किसान जमा हो गए और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ नारेबाजी करने लगे।

किसानों में भारी रोष था। सूचना मिलने पर बाजपुर से किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष करम सिंह पड्डा, किसान नेता बाबा प्रताप सिहं और किसान यूनियन युवा के प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र राणा मौके पर पहुंच गए और अवतार सिंह को फसल बर्बाद करने से रोकने लगे। तब कई कई एकड़ फसल बर्बाद की जा चुकी थी। रविंद्र राणा ने कहा कि राकेश टिकैत व संयुक्त किसान यूनियन ने किसानों से अपनी फसले नष्ट न करने की अपील की है।

हरिद्वार जिले के मंगलौर में संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक में दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन में क्षेत्रीय किसानों की सहभागिता पर चर्चा की गई। गुड़ मंडी में आयोजित बैठक में भारतीय किसान यूनियन (टिकैत) के जिला अध्यक्ष रवि कुमार शास्त्री ने कहा कि गांव-गांव में जनसंपर्क कर किसानों को दिल्ली भेजा जाएगा।

The post उत्तराखंड : किसान ने बबार्द कर दी अपनी गेहूं की फसल, PM मोदी से हैं नाराज first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top