देहरादून: सड़क हादसे आए दिन किसी ना किसी की जान लेते हैं। हादसों के कारण भी अलग-अलग होते हैं, लेकिन सबसे ज्यादा हादसे ओवरस्पीड, रॉंग साइड और ओवरलोडिंग के हो रहे हैं। इनका आंकड़ा भी लगातार बढ़ रहा है, जो चिंता का विषय है। इस साल भी जनवरी माह में हादसों में काफी तेजी आई है। पिछले कुछ सालों के मुकाबले इस साल दुर्घटनाओं, मृतकों और घायलों की संख्या बढ़ी है।

सरकारी आंकड़ों के अनुसार 2021 में जनवरी महीने में सबसे अधिक हादसे ऊधमसिंह नगर और हरिद्वार में हुए हैं। राजधानी देहरादून हादसों के मामले में तीसरे स्थान पर है। हादसों में मृतकों के के मामले में ऊधमसिंह नगर और हरिद्वार के बाद हादसों में मरने वालों की संख्या टिहरी में अधिक है।

उत्तराखंड : गंगनहर में समाई कार, दर्दनाक हादसे में 4 लोगों की मौत

जनवरी 2021 में कुल 142 हादसों में 90 लोगों की मौत हो गई। 130 घायल हुए। 2020 में 115 दुर्घटनाएं हुई, जिनमें 75 की मौत और 87 घायल हुए। इसी तरह 2019 में 121 हादसे हुए जिसमें 75 की मौत और 121 घायल हुए। चमोली, अल्मोड़ा, पिथौरागढ़ व बागेश्वर ऐसे जिले हैं, जहां पर तीन सालों में छिटपुट दुर्घटनाएं तो हुईं।

लेकिन किसी की भी मौत नहीं हुई। मैदानी जिलों में हादसों का ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है। पहाड़ी जिलों में टिहरी और पौड़ी छोड़कर अन्य जिलों में स्थिति बेहतर है। कुछ जिले ऐसे भी हैं, जहां 2019 और 2020 में जनवरी माह में एक भी हादसा नहीं हुआ।

The post उत्तराखंड : पहाड़ नहीं, मैदान के इन दो जिलों में सबसे ज्यादा एक्सीडेंट first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top