चमोली: आज त्रिवेंद्र सरकार अपना पांचवों और इस कार्यकाल का अंतिम बजट पेश करेंगे। लेकिन, उससे पहले सरकार ने बजट सत्र के चैथे दिन सदन के पटल पर आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 की रिपोर्ट पेश की। कांग्रेस विधायक करण महरा ने पुरानी पेंशन बहाली की मांग उठायी। नियम 58 में सदन की कार्यवाही रोक चर्चा कराने की मांग की। नई पेंशन व्यवस्था की जगह पुरानी पेंशन देने की मांग की।

राज्य की विकास दर में वर्ष 2019-20 में अनन्तिम अनुमान के अनुसार 4.30 प्रतिशत की वृद्धि आंकी गई, जबकि वर्ष 2018-19 में इसमें 5.77 प्रतिशत वृद्धि रहने का संशोधित अनुमान है। वर्ष 2018-19 में अनन्तिम अनुमान के अनुसार प्रचलित भावों पर राज्य का सकल घरेलू उत्पाद 2,36,768 करोड़ आंकलित किया गया है।

जिसकी तुलना में वर्ष 2019-20 में यह 2,53,666 करोड़ रहने का अनुमान है। स्थिर भावों (2011-12) पर सकल घरेलू उत्पाद (अनन्तिम) वर्ष 2018 -19 में 1,91,484 करोड़ आंका गया जो वर्ष 2019-20 में बढ़कर 1,99,718 करोड़ अनुमानित हैं, जो पिछले वर्ष की तुलना में 4.30ः की वृद्धि दर्शाता है।

The post उत्तराखंड : सदन के पटल पर रखी गई आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट, इतनी रहेगी विकास दर first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top