चमोली : सुमना में हिमस्खलन होने के कारण बीआरओ के मजदूर दब गय्य्ये थे. कल तक 15 निकले जा चुके थे, लेकिन अब तक 3 मजदूरों के शॉ नहीं मिल पाए हैं. आपदा के छठवें दिन भी बीआरओ के मजदूरों की खोज का अभियान जारी है। अभी तक तीनों लापता मजदूरों का कोई पता नहीं चल पाया है। सभी शवों की शिनाख्त के बाद आज जौलीग्रांट  एअरपोर्ट से झारखंड भेज दिए जाएंगे।

डीएम स्वाति एस. भदौरिया ने बताया कि आपदा में मृतक बीआरओ के ये सभी मजदूर झारखंड राज्य के रहने वाले थे। परिजनों तक मृतकों के शव पहुंचाने के लिए झारखंड सरकार से बात की गई है और बीआरओ के माध्यम से बुधवार तक सभी शवों को झारखंड सरकार के सुपुर्द किया जाएगा।

शवों को सुरक्षित रखने के लिए एंबुलेंस से श्रीनगर अस्पताल भेजा गया और बुधवार को सभी शव जौलीग्रांट से झारखंड भेजने की कार्रवाई की जाएगी। मलारी से सुमना तक सड़क मार्ग खोलने का काम भी जारी है। सेना, बीआरओ, आईटीबीपी लगातार 3 लापता मजदूरों की खोज में जुटे हैं। हादसे में बचाए गए 384 मजदूरों को अभी भी सेना कैंप में रखा गया है। सड़क मार्ग खुलने के बाद वाहनों से मजदूरों को जोशीमठ लाया जाएगा।

The post उत्तराखंड : जौलीग्रांट से झारखंड भेजे जाएंगे शव, 3 मजदूर अब भी लापता first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top