बैंगलुरु: कई बार बिना सोचे लोग कुछ भी कदम उठा देते हैं. अपनी जिद्द के लिए पूरी जिंदगी को बर्बाद कर दते हैं. ऐसा ही एक मामला बैंगलुरू में सामने आया है. यहां एक मां ने अपनी 3 साल की बेटी की गला दबा कर जान ले ली. 26 साल की महिला मासूम बेटी से इस बात पर नाराज थी कि वो हमेशा अपने पिता का साथ देती थी. पति-पत्नी का हाल ही में टीवी रिमोट को लेकर झगड़ा हुआ था और बेटी ने पिता का पक्ष लिया था. इस बात से वो गुस्से में थी.

सुधा नाम की इस महिला ने एक निर्माणाधीन इमारत में ले जा कर बेटी की गला दबाकर हत्या कर दी. सुधा पश्चिमी बेंगलुरू में टाइल्स की एक दुकान पर हाउसकीपिंग स्टाफ में काम करती है. पति इरन्ना दिहाड़ी श्रमिक है. सुधा इसके बाद बेटी के लापता होने का नाटक करती रही. उसने पति के साथ बेटी की गुमशुदगी की रिपोर्ट भी पुलिस में दर्ज कराई. सुधा ने पुलिस को बताया कि वो बेटी को घर से बाहर चाट की दुकान पर गोभी मंचूरियन खिलाने के लिए ले गई थी. जब वो बिल का भुगतान करने गई तो बेटी लापता हो गई.

अगले दिन किसी राहगीर ने निर्माणाधीन इमारत के पास से गुजरते हुए बच्ची का शव देखा. उसने इसकी सूचना पुलिस को दी. पुलिस मौके पर पहुंची. बच्ची की पहचान होने के बाद पुलिस ने सुधा और इरन्ना को बुलाया. पुलिस को सुधा की बातों से कुछ शक हुआ. पुलिस ने चाट की दुकान पर जाने के बारे में सुधा से पूछताछ की. पुलिस ने सख्ती दिखाई तो सुधा ने बेटी को गला घोंटकर मारने का जुर्म कबूल कर लिया.

The post पिता का साथ देती थी 3 साल की मासूम, कलयुगी मां ने मार डाला first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top