लालकुआं : कोरोना के तेजी से बढ़ते प्रकोप को लेकर प्रशासन अलर्ट हो गया है, जिसके तहत अब उत्तराखंड के नैनीताल जनपद में प्रवेश करने से पहले कोरोना की जाँच रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य कर दिया है। बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों के पास कोविड टेस्ट रिपोर्ट नहीं होने पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा उनकी जिले के बॉर्डर पर ही आरटीपीसीआर जांच की जा रही है। प्रशासन द्वारा बिना मास्क के अन्य राज्यों से आने वाले 50 लोगों के चालान किये गये।

देश के विभिन्न राज्यों में रात का कर्फ्यू लगने के बाद नैनीताल के पर्यटक स्थलों पर सन्नाटा दिखने लगा है। बुधवार तक सैलानियों से गुलजार नैनीताल और इसके आसपास के पिकनिक स्पॉट वीरान नजर आए। हालत ये थी कि नैनीताल की माल रोड और सैलानियों से ठसाठस भरी रहने वाले बाजारों में दिन में ही सन्नाटा पसरा रहा।

इस दौरान उप जिलाधिकारी ऋचा सिंह ने बताया कि नैनीताल जनपद के बॉर्डर लालकुआँ में बैरिकेडिंग करते हुए सभी सभी वाहनों में आ रहे लोगों को रोक कर उनकी कोरोना टेस्ट रिपोर्ट चेक की जा रही है। साथ ही बाहरी राज्यों से आने वाली बसों में परिचालको और यात्रियों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराए जाने के लिए निर्देश दिए जा रहे हैं। इस दौरान कोविड-19 टीम की सेक्टर मजिस्ट्रेट राजू नबियाल ने बताया कि कोरोना की लहर को देखते हुए बिना मास्क के आ रहे लोगों को रोककर बॉर्डर पर ही नगर पंचायत के द्वारा चालान किए जा रहे हैंं। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने पर उनके विरुद्ध वैधानिक कार्यवाही अमल में लाई जा रही ।

The post नैनीताल के पर्यटक स्थलों पर सन्नाटा, गली सुनसान-बाजार में सन्नाटा, बॉर्डर में चैकिंग first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top