बड़कोट: कोरोना का कहर शहर से पहाड़ तक नजर आ रहा है। कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। उत्तरकाशी जिले में एक ही दिन में 531 कोरोना के नए मामले सामने आने से हड़कंप मचा हुआ है। यमुनोत्री धाम का मुख्य पड़ाव बड़कोट में भी कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। नगर पालिका परिषद के एक वार्ड को छोड़कर बाकी सभी वार्ड कंटेंनमेंट जोन बनाए गए हैं। इसको देखते हुए व्यापारियों प्रशासन के साथ बैठक कर खुद ही एक सप्ताह का लाॅकडाउन लगाने का फैसला लिया है।

व्यापार मंडल अध्यक्ष राजाराम जगूड़ी व्यापारियों के नाम एक मैसेज भी जारी किया है। उसमें कहा गया है कि यमुना घाटी में कोरोना महामारी अपने पांव पसार चुकी है, जिससे बड़कोट के सभी वार्ड वार्ड नंबर-2 को छोड़कर सभी को कंटेंनमेंट जोन में घोषित कर दिया गया है। हर दिन इन वार्डों में नए मामले आ रहे हैं। ऐसे में व्यापारियों ने एक सप्ताह के लाॅकडाउन का फैसला लिया है।

कोरोना से नौगांव का भी बुरा हाल है। बर्नीगाड में युवा व्यापारी प्रतिनिधि की कोरोना से मौत हो चुकी है। कोरोना की वर्तमान स्थिति को देखते हुए यमुना घाटी जिला कार्यकारिणी ने यह तय किया है कि 11 मई से 1 सप्ताह का लॉकडाउन पूरी यमुना घाटी में रहेगा। 10 मई तक समय सब्जी कारोबारियों को दिया गया है, जिससे वो सब्जी और फलों को स्टाॅक निपटा सकें। बाजार 17 मई को खुलेगा। बैठक में व्यापार मंडल महामंत्री धनवीर रातव भी शामिल रहे।

दिव्यांग कल्याण सलाहकार बोर्ड के सदस्य सुरेंद्र रावत ने कहा कि यह फैसला बहुत जरूरी है। कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। प्रशासन से वार्ता कर ली गई है। व्यापारी खुद ही लाॅकडाउन लगाएंगे। वहीं, होटल व्यवसायी उत्तम रावत का कहना है कि कोरोना का कहर थम नहीं रहा है। लोगों को खुद को सुरक्षित रखने के लिए नियमों का पालन करना चाहिए। मामले गंभीरता को देखते हुए सभी व्यापारी लाॅकडाउन के फैसले पर सहमत हुए हैं।

The post बड़कोट के व्यापारियों का बड़ा फैसला, इस दिन से एक सप्ताह तक बंद रखेंगे बाजार first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top