देहरादून : प्रदेश में कोरोना के बढ़ते गंभीर रोगियों एवं नए स्ट्रेन के कारण कम समय में गंभीर स्थिति तक पहुॅचने वाले मरीजों को उचित चिकित्सीय सुविधाएं प्रदान करने के लिए गढ़ी कैण्ट में प्रस्तावित 150 बेड क्षमता के कोविड केयर सेन्टर को अब समय की मांग के अनुसार उच्च स्तर के ’’कोविड अस्पताल’’ में परिवर्तित किया जा रहा है। इस अस्पताल में 10 आईसीयू बेड लगाने का भी प्रावधान किया जा रहा है ताकि प्रदेश के कोरोना से गंभीर पीड़ित रोगियों को बेहतर चिकित्सीय सुविधा उपलबध कराई जा सके।

यह जानकारी जनपद देहरादून के प्रभारी मंत्री गणेश जोशी ने दी। उन्होंने बताया कि पहले इसे मध्यम कोरोना पीड़ित मरीजो के लिए कोविड केयर सेन्टर के रूप में विकसित किया जा रहा था, लेकिन प्रदेश में गंभीर रोगियों की संख्या बढ़ने और मृत्यु दर बढ़ने के कारण अब इसे ’’कोविड अस्पताल’’ के रूप में विकसित किया जा रहा है। इस कोविड अस्पताल में अगले 15 दिनों के भीतर गंभीर संक्रमण से ग्रस्त रोगियां के लिए 50-100 तक बेड चालू कर दिए जाएगें और जिनमें आॅक्सीजन सपोर्ट की व्यवस्था भी होगी। इसके साथ ही अगले 1-2 माह के भीतर इसके लिए अलग से आॅक्सीजन प्लान्ट लगाने का भी प्रयास किया जा रहा है ताकि किसी भी आकस्मिक परिस्थिति में इलाज में कोई कोताही न हो पाए।

मंत्री गणेश जोशी ने मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि इस अस्पताल के निर्माण के लिए वे व्यक्तिगत तौर पर प्रयासरत है। इस अस्पताल को शीध्र ही 150 बेड तक का किया जाएगा। इसके शुरू होने से देहराूदन जिले सहित आसपास के सभी कोरोना संक्रमितो को लाभ होगा।

The post देहरादून : छावनी अस्पताल को बनाया जा रहा है कोविड अस्पताल, सीएम का आभार- गणेश जोशी first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top