हरिद्वार : उत्तराखंड में कोरोना महामारी का प्रकोप लगातार बढ़ रहा है मगर उत्तराखंड में हॉस्पिटलों में भर्ती होने वाले मरीजों की देखभाल भी सही से नहीं की जा रही है। यह हम नहीं खुद उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत का बयान है।

बता दें कि बीते दिन मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत हरिद्वार के बेस्ट हॉस्पिटल का उद्घाटन करने पहुंचे थे जिसको बाबा रामदेव की पतंजलि योगपीठ और राज्य सरकार मिलकर संचालित करेगी यहां पर डेढ़ सौ आइसोलेट वार्ड की व्यवस्था है इसके साथ ही उत्तराखंड के कई जिलों में इसी तरह के हॉस्पिटलों का निर्माण किया जा रहा है मगर क्या वहां पर मरीजों को अच्छी व्यवस्था मिल पा रही है ऐसा होता दिखाई नहीं दे रहा है और इसके बारे में खुद उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा है

उत्तराखंड की स्वास्थ्य सुविधाओं की जिम्मेदारी जिस के कंधों पर है वही स्वास्थ्य सुविधाओं पर सवाल खड़े कर दे तो मामला काफी गंभीर होता है मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने हरिद्वार बेस हॉस्पिटल के उद्घाटन में कहा कि मेरे पास किसी परिचित का फोन आया। मैं उसका नाम नहीं बताऊंगा। उनके द्वारा कहा गया कि वह कोरोना पॉजिटिव होकर हॉस्पिटल में भर्ती हुए हैं मगर उनकी देखरेख करने वाला वहां पर कोई नहीं है। सुबह उनको नाश्ता दिया जा रहा है। मगर उनको पता ही नहीं है कि कौन उन्हें नाश्ता देने आ रहा है। साथ ही उन्हें इतना भी नहीं पता कि वहां पर कौन डॉक्टर है? कौन नर्स है मुख्यमंत्री का कहना है कि इसी तरह की डिप्रेशन में कई लोग अपनी जान भी गवां चुके हैं मुख्यमंत्री का कहना है जब उनके द्वारा मुझे इस बारे में बताया गया तो मैंने उन्हें खुद एम्स हॉस्पिटल में भर्ती कराया.

उत्तराखंड में स्वास्थ्य सुविधा की क्या हालात है इससे हर कोई वाकिफ है मगर कोरोना महामारी में उत्तराखंड के हॉस्पिटलों में कोरोना के मरीजों को सही सुविधा नहीं मिल पा रही है जिसेे कई लोग अपनी जान भी गवा रहे हैं यह सरकार पर भी सवाल खड़े कर रहा है इस बात को खुद उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने बयां की है.

मगर सवाल यही उठता है कि मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत पर ही स्वास्थ्य विभाग की जिम्मेदारी है और उसके बावजूद भी इस तरह की घटनाएं हो रही है तो कहीं ना कहीं उन पर भी सवालिया निशान खड़े होते हैं अब देखना होगा कोरोना काल में मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत द्वारा स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ाने के लिए क्या कार्य किया जाता है

The post CM का बयान : अस्पतालों में नहीं हो रही मरीजों की देखभाल, मुझे किसी परिचित का फोन आया, पता नहीं चलता कौन डॉक्टर-कौन नर्स? first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top