पौड़ी: जिले में एक दिल दहला देने वाला हादया हुआ है। यह हादसा गुरूवार को हुआ था। जानकारी के अनुसार कोट ब्लाॅक के रखूण गांव के पास गेंठीछेड़ा झरने की झील में डूबने से भाई-बहन की मौत हो गयी है। दोनों ही बच्चे सिरोली गांव के रहने वाले हैं और अपनी नानी के पास आए हुए थे। सिरोली गांव के मूल निवासी प्रमोद रावत की बेटी दिव्या रावत (16) और अमन रावत (14) अपने नानी के घर रखूण गए थे। गुरुवार शाम को गेंठीछेड़ा झरने की झील में नहाने के चले गए।

नहाते वक्त भाई अमन का अचानक पैर फिसलने से वह झरने के नीचे बनी झील में गिर गया। भाई को बचाने के लिए बहन भी तालाब में कूद पड़ी और दोनों डूबने लगे। उनके साथ उनकी मामा की लड़की भी गई हुई थी, उसने इसकी जानकारी ग्रामीणों को दी। मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने बच्चों को झील से निकालकर जिला अस्पताल पौड़ी उपचार के लिए पहुंचाया, जहां डाक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया।

घटना के बाद से मां, नानी व मामा समेत पूरे परिवार का रो रोकर बुरा हाल है। जिला चिकित्सालय पौड़ी के चिकित्सा अधीक्षक डा. गौरव रतूड़ी ने बताया कि अस्पताल पहुंचने से पहले ही दोनों बच्चों की मौत हो चुकी थी। दिव्या व अमन के पिता प्रमोद रावत असम राइफल में सेवारत हैं। वे इस समय मणिपुर में तैनात हैं।

The post उत्तराखंड : झरने में गिरा भाई, बचाने कूद पड़ी बहन, दोनों की डूबने से मौत first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top