देहरादून : खाकी का एक और मानवीय चेहरा सामने आया है। दरअसल सोशल मीडिया पर मिले मैसेज से डीजीपी अशोक कुमार का दिल पसीज गया और डीजीपी ने तुरंत जीवन रक्षा निधि से पुलिसकर्मी 12 लाख रूपए दे दिए। आइये बताते हैं क्यो? आखिर क्रा है वजह

सोशल मीडिया प्लेटफार्म से डीजीपी अशोक कुमार को जानकारी मिली कि बागेश्वर में तैनात फायर मैन बलवन्त सिंह राणा की बच्ची का स्वास्थ खराब है और उसका पीजीआई लखनऊ में उपचार चल रहा है। बच्ची का बोन मैरो ट्रांसप्लांट होना है, जिसका लगभग 12 लाख रूपए खर्च बताया है। डीजीपी अशोक कुमार ने पुलिस अधीक्षक बागेश्वर से इस सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी ली। तथ्य सही पाये जाने पर फायर मैन बलवन्त सिंह राणा के परिवार से बात कर हर सम्भव मदद का भरोसा दिलाया। पीजीआई लखनऊ में डाॅक्टरों से बात कर बच्ची का पूरा ध्यान रखने के लिए कहा गया। साथ ही तुरंत जीवन रक्षा निधि से फायर मैन बलवन्त सिंह राणा को 12 लाख रूपए अग्रिम के रूप में दिए गए।

डीजीपी ने कहा कि कोई भी पुलिसकर्मी पति-पत्नी अपने माता-पिता, अविवाहित पुत्र/पुत्री (कोई आयु सीमा नहीं), जो उन पर पूर्णतः आश्रित हों हेतु इस निधि का उपयोग कर सकते हैं।

The post सोशल मीडिया पर मिले मैसेज से पसीजा DGP अशोक कुमार का दिल, बच्ची की जिंदगी बचाने के लिए तुरंत दिए 12 लाख रूपए first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top