चमोली : वृक्षों के बिना इस सृष्टि की कल्पना करना भी असंभव है। वृक्ष जीवन का आधार है और हरियाली नव चेतना और खुशहाली का। इस वसुंधरा के श्रृंगार पौधारोपण के पर्व को आज चमोली में भी जनपद पुलिस ने वृक्ष लगाकर और बच्चों के खेल प्रतिभाग जैसे आयोजनों के माध्यम से मनाया गया। हरेला में चमोली पुलिस ने एक अनोखा रिकॉर्ड भी कायम किया।

ज्ञातव्य हो कि पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार पुलिस ने एक अभियान के तहत उत्तराखंड पुलिस द्वारा सम्पूर्ण उत्तराखंड में एक लाख पौधारोपण करने का लक्ष्य रखा गया था, जिस क्रम में चमोली एसपी यशवंत सिंह चौहान  जनपद चमोली के नेतृत्व ओर दिशानिर्देशन में चमोली पुलिस ने 5 जून से आज 16 जुलाई तक 4500 से अधिक पौधारोपण कर अभियान में सक्रिय भागीदारी निभाई। अभियान की समाप्ति पर पुलिस परिवार के बच्चों द्वारा पर्यावरण सम्बन्धी पेंटिंग सम्बन्धी प्रतियोगिता एवं बच्चों के उत्साहवर्धन करने सम्बन्धी अन्य आयोजित प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग किया जिसमे विजेता बच्चों को एसपी ने पुरुस्कृत भी किया गया।

कार्यक्रम में चर्चित पर्यावरणविद दिनेश चंद्र तिवारी, चंडीप्रसाद तिवारी सहित अन्य पर्यावरण प्रेमी भी सम्मलित थे, जिनके द्वारा कार्यक्रम में सम्मलित सभी पुलिस परिवार के सदस्यों, परिवारजनों एवमं बच्चों को वृक्षारोपण से प्रत्यक्ष एवमं अप्रत्यक्ष लाभ, एवमं आवश्यकता पर व्याख्यान दिया।

इस मौके पर पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान ने सभी को देवभूमि पर्व हरेला की बधाइयाँ दी। साथ ही पर्यावरण सरक्षंण, बृक्षारोपण पर अपना सम्बोधन दिया, और बृक्षों से प्राप्त होने वाले प्राण वायु, जल, औषधि, फल, के साथ ही ग्लोबलवार्मिंग, एवमं भूमि क्षरण पर अपने विचार रखे। महोदय के द्वारा साथ ही यह भी कहा गया कि पुलिस के सामाजिक कार्यक्रमो की कड़ी में इस प्रकार के अभियान आगे भी जारी रहेंगे, समय समय पर फलदार ओर औषधीय बृक्षों एवम अन्य पौधों का रोपण किया जाता रहेगा।

कार्यक्रम में में पुलिस अधीक्षक के अतिरिक्त पर्यावरणविद दिनेश तिवारी, चंडी प्रसाद, निरीक्षक अभिसूचना सूर्यप्रकाश शाह, निरीक्षक यातायात प्रवीण आलोक, यातायात उ0नि0 दिगंबर उनियाल के साथ-साथ पुलिस परिवार की महिलाएं एवं बच्चे मौजूद रहें। मंच संचालन इंस्पेक्टर प्रवीण आलोक के द्वारा किया गया।

The post हरेला पर चमोली पुलिस का अनोखा रिकॉर्ड, 4500 से अधिक वृक्ष लगाए, SP ने दिया बच्चों को ईनाम first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top