ऋषिकेश- उत्तराखंड की जानी मानी समाजसेविका और पूर्व पालिका अध्यक्ष (भाजपा) स्नेहलता शर्मा भले का बीते दिन निधन हो गया। आज हमारे मध्य नहीं हैं लेकिन उनके परिजनों द्वारा कराए गए नेत्रदान से दो नेत्रहीनों की जिंदगी रोशन होने के साथ-साथ समाज को नेत्रदान का संदेश अवश्य मिलेगा। वह पिछले कुछ समय से किडनी के रोग से जूझ रही थी। नगर पालिका परिषद ऋषिकेश में वर्ष 1997 से 2002 तक अध्यक्ष रही स्नेहलता शर्मा (65 वर्ष) ने बुधवार शाम 3:30 बजे अपने रेलवे रोड स्थित आवास पर आखरी सांस ली। जानकारी मिली है कि उन्हें शुगर की प्रॉब्लम भी थी।

बीते बुधवार दोपहर बनखंडी निवासी 66 वर्षीय स्नेहलता शर्मा का आकस्मिक निधन हो गया था , दुख की घड़ी में उनके पुत्र अमित वत्स ने अपने पिता त्रिनेत्र शर्मा से सहमति लेकर नेत्रदान कार्यकर्ता व लायंस क्लब ऋषिकेश देवभूमि के चार्टर अध्यक्ष गोपाल नारंग को सूचित किया, जिस पर नारंग एम्स हॉस्पिटल की नेत्रदान की रेस्क्यू टीम को लेकर उनके निवास पर पहुंचे व नेत्रदान का पुनीत कार्य कराया।

नेत्रदान के इस कार्य की विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल, नगर निगम मेयर अनीता ममगाई, ललित मोहन मिश्रा, कृष्ण कुमार सिंघल, हरीश आनंद, राजेंद्र तायल, अश्वनी विश्वकर्मा, श्रेया वर्मा विनय भाटिया ने सराहना की है. विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने दुख प्रकट करते हुए परिवार को सांत्वना दी । नेत्रदान महादान प्रमुख (हरिद्वार ऋषिकेश )लायन रामशरण चावला के अनुसार मिशन का 199वां सफल प्रयास है जो निरंतर चलता रहेगा!

The post ऋषिकेश : पूर्व पालिका अध्यक्ष स्नेहलता शर्मा का निधन, दो नेत्रहीनों की जिंदगी कर गई रोशन first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top