उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता हरीश रावत नए विवाद में फंसते नजर आ रहें हैं। हरीश रावत ने पीएम मोदी की आलोचना के चक्कर में उनकी फेक फोटो सोशल मीडिया पर शेयर कर दी है।

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत सोशल मीडिया पर पीएम नरेंद्र मोदी की एक फेक फोटो शेयर कर फंस गए हैं। हरीश रावत ने शनिवार की सुबह अपने अलग अलग मीडिया हैंडल्स पर ये पोस्ट शेयर की है।

इस पोस्ट में हरीश रावत ने पीएम नरेंद्र मोदी की जो फोटो शेयर की है वो फेक बताई जा रही है। इस पोस्ट में हरीश रावत ने पीएम मोदी की स्कल कैप या मुस्लिमों के जरिए लगाई जाने वाली टोपी लगी फोटो शेयर की गई है।

हरीश रावत ने इस पोस्ट में लिखा है कि, #भाजपाई_दोस्तो, नीचे के कुछ चित्र देखिये। दरगाह में गोल टोपी पहनने से हरीश रावत तो मौलाना हरीश रावत हो गये और घर-घर में आपने वो टोपी वाली मेरी तस्वीर पहुंचा दी। अब जरा मुझे बताइए क्या Rajnath Singh जी भी मौलाना राजनाथ सिंह हो गये हैं?…….

 

#मोदी जी की भी एक फोटो है, आपके हिंदुत्व के आईकॉन की, क्या इनको भी आप उसी संबोधन से नवाजेंगे जो संबोधन आपने केवल-केवल मेरे लिए रिजर्व करके रखा है। हिम्मत है तो मेरे साथ इनको भी उसी नाम से पुकारिये।

 

अपनी इस पोस्ट में जो फोटो हरीश रावत ने शेयर की है उसमें पीएम मोदी मुस्लिमों से स्कल कैप लगाकर गले मिलते दिख रहें हैं।

दरअसल हरीश रावत ने जो फोटो साझा की है वो 14 सितंबर 2018 की है। पीएम नरेंद्र मोदी मध्यप्रदेश के इंदौर दौरे पर थे और वहां वो सैफी मस्जिद में बोहरा समुदाय के अनुयायियों से मिलने पहुंचे थे। इस कार्यक्रम में बोहरा समुदाय के धर्मगुरु सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन ने मस्जिद के दरवाजे पर ही पीएम मोदी की अगवानी की और उन्हें मंच तक लेकर आए थे। इस कार्यक्रम में पीएम मोदी के साथ मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी मौजूद थे।

हरीश रावत ने जो फोटो शेयर की है उसमें पीएम मोदी बोहरा समुदाय के धर्मगुरु सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन से गले मिलते हुए दिख रहे हैं। इस फोटो में पीएम मोदी को मुस्लिमों वाली टोपी लगाए हुए दिखाया गया है।

हरीश रावत का ट्वीट देखिए –

 

हम आपके लिए उस कार्यक्रम के दूरदर्शन के जरिए किए गए लाइव स्ट्रीम का वीडियो यहां लगा रहें हैं। इस वीडियो में साफ दिख रहा है कि पीएम नरेंद्र मोदी ने इस पूरे कार्यक्रम में कहीं भी टोपी नहीं पहनी है।

 

ऐसे में साफ होता है कि पीएम नरेंद्र मोदी की जो फोटो हरीश रावत ने शेयर की है वो फेक है। ऐसे में हरीश रावत पर आईटी एक्ट में मुकदमा भी दर्ज किया जा सकता है।

हालांकि दिलचस्प ये भी है कि हरीश रावत ने राजनाथ सिंह की जो फोटो शेयर की है उसमें वो दुपलिया टोपी लगाए हुए दिख रहें हैं। ये तस्वीर इंटरनेट पर आसानी से उपलब्ध है। इस फोटो में राजनाथ सिंह के साथ ही उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव की बहु अपर्णा यादव भी मौजूद हैं। अमर उजाला के डिजीटल प्लेटफार्म पर ये तस्वीर 20 जून 2016 को प्रकाशित हुई है। इस फोटो फीचर के मुताबिक राजनाथ सिंह लखनऊ के दिलकुशा गार्डेन स्थित दरगाह हजरत कासिम शहीद की दरगाह पर आयोजित इफ्तार पार्टी में पहुंचे थे।

इस मौके पर राजनाथ सिंह ने जो टोपी पहनी है वो आमतौर पर लखनऊ के नवाबों की टोपी के रूप में पहचानी जाती है। इसे दुपलिया टोपी कहते हैं। होली दिपावली या अन्य खास मौके पर ये टोपी लखनऊ और आसपास के इलाकों में हर समुदाय के लोग लगाते हैं।

photo – amar ujala

वैसे हरीश रावत के फेसबुक पोस्ट पर आने वाले कमेंट्स को देखें तो यूजर्स ने खुद ही बताया है कि हरीश रावत ने जो फोटो पोस्ट की है वो फेक है। एक यूजर्स ने दो फोटोज डालकर इसे साबित भी किया है।

The post EXCLUSIVE। पीएम मोदी की फेक फोटो सोशल मीडिया पर शेयर कर रहें हैं हरीश रावत first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top