हल्द्वानी-उत्तराखंड में कांग्रेस में अक्सर गुटबाजी देखी गई है और ये गुजबाजी सिर्फ पार्टी के अंदर ही नहीं बल्कि बाहर जनता के सामने भी साफ देखी गई जिसका फायदा भाजपा समेत अन्य विपक्षी पार्टियों ने उठाया। कांग्रेस को इस गुटबाजी के कारण परिणाम भी भुगतने पड़े हैं। कांग्रेस को कमजोर कहा जा रहा है। कांग्रेस की गुटबाजी को लेकर विपक्षी पार्टियों ने कांग्रेस पर कई बार हमला भी बोला। कहीं ना कहीं गुटबाजी के कारण कांग्रसे कमजोर हुई है और भाजपा मजबूत।

हम ये इसलिए कह रहे हैं क्योंकि कांग्रेस से एक बार फिर से गुटबाजी का मामला सामने आया है। भरी सभा में मीडिया के कैमरे के आगे दो मंत्री शब्दों और अपने एक्शन से खूब लड़े। दरअसल कांग्रेस कार्यालय स्वराज आश्रम में राजीव गांधी की जयंती के अवसर पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इकबाल भारती द्वारा इंदिरा हृदयेश के पुत्र सुमित हृदयेश को हल्द्वानी से दावेदार बताए जाने पर हुकुम सिंह कुंवर आग बबूला हो गए. जिसके बाद पूर्व राज्य मंत्री इकबाल भारती और हुकुम सिंह कुंवर के बीच विवाद हो गया। मंत्री हुकुम सिंह कुंवर का पारा चढ़ गया और वो कैमरे के सामने ही अपना रोष जताते नजर आए। आपको बता दें कि हुकुम सिंह कुंवर कांग्रेस प्रदेश के प्रवक्ता रह चुके हैं। उनका गुस्सा कैमरे के सामने बरपा।

आपको बता दें कि स्वराज आश्रम में बैठे कई नेताओं ने भी हल्द्वानी सीट से पेश कर दावेदारी दी।

The post उत्तराखंड कांग्रेस में फिर सामने आई गुटबाजी, कैमरे के सामने भिड़े मंत्री, चढ़ा पारा first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top