पौड़ी: भारी बारिश का कहर जारी है। लगातार बारिश के कारण भूस्खलन की घटनाएं सामने आ रही हैं। जिसके चलते लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। पौड़ी जिले के नौगांव विकासखंड खिसू की तहसील चाकीसैंण में भूस्खलन से काफी नुकसान हुआ है। भूस्खन की चपेट में बकरी, गाय और बैलों को नुकसान हुआ है। अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं।

चमोली जिले में बारिश के कारण हो रहे भूस्खलन और भू-धंसाव से 48 संपर्क मार्ग बंद पड़े हैं, जिससे ग्रामीणों को लंबी दूरी पैदल आवाजाही करनी पड़ रही है।  सड़कों की सबसे बुरी स्थिति पोखरी ब्लाक की बनी हैं। यहां 11 सड़कें जगह-जगह भूस्खलन होने से बंद हैं। रौता, जौरासी, हापला घाटी, कर्णप्रयाग, ताली, कंसारी जैसे क्षेत्रों को यातायात से जोड़ने वाली सड़कें बंद पड़ी हैं।

बीरबल सिंह का कहना है कि कनकचौंरी-रौता सड़क जून माह के शुरुआत से ही बंद पड़ी हैं, जिससे ग्रामीण दो माह से लगभग 10 किलोमीटर की पैदल दूरी तय कर रहे हैं। इधर, बदरीनाथ हाईवे भी जगह-जगह खस्ता हालत में पहुंच गया है। जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नंद किशोर जोशी का कहना है कि सड़कों को खोलने के बाद रात को हो रही बारिश से फिर सड़कों पर भूस्खलन हो रहा है। मौसम सामान्य होने के बाद सड़कों की दशा सुधार ली जाएगी।

The post उत्तराखंड : इस जिले में भूस्खलन से नुकसान, मौके पर पहुंचे अधिकारी first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top