ऋषिकेश : दिनदहाड़े चैन स्नैचिंग का असफल प्रयास करने वाले 04 चार शातिर आरोपियों को पुलिस ने 2 देसी तमंचे मय 2 जिंदा कारतूस और दो चाकू के साथ एसओजी देहात और ऋषिकेश पुलिस की संयुक्त टीम ने गिरफ्तार किया है जो कि मुज्जफरनगर के हिस्ट्रीशीटर बताए जा रहे हैं।

दरअसल गुमानीवाला की एक महिला नेपुलिस को आकर तहरीर दी और बताया कि 5 अगस्त की शाम 5:45 पर मनसा देवी गुमानीवाला क्षेत्र में एक बाइक पर सवार तीन अज्ञात बदमाशों ने पता पूछने के दौरान उसके गले से सोने की चेन खींचने की कोशिश की। बार-बार चेन खींचने की कोशिश करने पर महिला ने शोर मचाया और वो लोगों की भीड़ को देख फरार हो गए।। महिला ने बताया कि भीड़ को देख उनमें से एक ने हवा में फायरिंग की और वो सभी भाग गए। मौके पर  मोटरसाइकिल और एक बैग छोड़कर भाग गए।

मोटरसाइकिल हरियाणा के सोनीपत से चोरी की

वहीं बाइक के नंबर की जांच करने पर पता चला कि वो मोटरसाइकिल हरियाणा के सोनीपत से चोरी की है। पुलिस ने मुखबिर तंत्र सक्रिय किए। पता चला कि पुराने जेल गए अभियुक्तों ने आपस में एक छोटा सा गैंग बना रखा है। जो इस प्रकार की घटनाएं करते हैं। इसी दौरान पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली तीन-चार व्यक्ति मनसा देवी क्षेत्र में संदिग्ध अवस्था में घूम रहे हैं। जिसकी सूचना कोतवाली ऋषिकेश को देकर अन्य पुलिस टीम एकत्र कर मौके पर बुलाई गई। पुलिस टीम द्वारा तत्काल चारों व्यक्तियों को रोक कर चेक किया तो उनके पास से 02(दो) देसी तमंचे, 02 दो जिंदा कारतूस व चाकू बरामद किए गए।

हरिद्वार में चाट की ठेली लगाने का काम किया

पूछताछ में आरोपी अजय उर्फ बादल ने बताया कि वो मार्च 2021 से संदीप पाल जो मेरा दूर का रिश्तेदार है के साथ रहता था। फिर वो मुज्जफर नगर अपने पहले मुकदमें के चक्कर में गया था, और वहीं थाना चरथावल में तमंचे की फैक्टरी चलाने के आरोप में पुलिस ने मुझे पकड लिया था। जहां से वो मुज्जफ नगर जेल में करीब एक माह रहा। उसके बाद वो पैरोल पर वापस आया और करीब इसके 2 माह बाद वो पुनः हरिद्वार आया तो उसे कमरे पर संदीप और उसके साथ कपिल पाल उर्फ काला जो मुझे पहले जेल मे मिला था भी मिला। फिर हम तीनों ने मिलकर हरिद्वार में चाट की ठेली लगाने का काम किया। लॉक डाउन के चलते हमारा काम नहीं चल पा रहा था। तो हम तीनो ने कमरे पर बैठकर लूट की योजना बनाई।

इस योजना में हमने अपने जेल में मिले साथी सचिन उर्फ चुन्ना जो कि थाना सिविल लाईन मु0नगर उ0प्र0 का एच0एस0 है व विक्रान्त त्यागी उर्फ राकेश त्यागी जो कि थाना सिविल लाईन मु0नगर का एच0एस0 है, को भी शामिल किया था। विक्रान्त त्यागी आजकल देहरादून जिले में ही रह रहा था। इसके बाद संदीप पाल मु0नगर आया और वहां से एक अपाचे मो0सा0 जो मैने और संदीप ने सोनीपत से एक फैक्टी के सामने से मार्च 2021 में चुराई थी, को लेकर व अपने साथ सचिन उर्फ चुन्ना को लेकर कमरे पर आया और योजनानुसार दिनांक 05 को उसी चोरी की मो0सा0 की नम्बर प्लेट बदलकर संदीप, सचिन और कपिल जिन्हें मैने अपना पिटठू बैग दे दिया था,ताकि कोई शक न करे और रायवाला आये। रायवाला ठेके के पास विक्रान्तमिला। जिसे लोकल की अच्छी जानकारी थी। इसलिए तो सचिन को वही उतारकर संदीप कपिल और विक्रान्त उस अपाचे मो0सा0 से तमंचे लेकर लूट करने निकल गये। शिकार ढूढते ढूढते जब यह लोग जौली ग्रांट पहचे तो मो0सा0 का टायर खराब हो गया, तो संदीप ने मो0सा0 में वही नया टायर डलवाया और ऋषिकेश श्यामपुर क्षेत्र में आये। कुछ हाथ न लगने के कारण इन्हे एक महिला दिखी जिसके गले में सोने की चैन थी। इन्होने उस महिला से चैन छिनने की कोशिश की, किन्तु कामयाब नही हो पाये और छिना झपटी में मो0सा0 और मेरा बैग वही छोड यह तीनो फायर कर वहां से पैदल भाग आये। फिर इन्होने मुझे फोन से बताया कि काम नही हो पाया है तो मैने इन्हे कमरे पर बुला लिया और अगली सुबह हम चारो मै व संदीप सचिन व कपिल मु0नगर चले गये थे।

पूरा करने पर इन लोगों ने अपने नाम
1- विक्रांत त्यागी उर्फ विक्की त्यागी पुत्र श्री राकेश त्यागी निवासी ग्राम रई, थाना छपार मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश, हाल निवासी- *इंदिरा नगर थाना सिविल लाइन जिला मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश, उम्र 26 वर्ष
2- कपिल पाल उर्फ काला पुत्र स्वर्गीय श्री चंद्रभान पाल निवासी ग्राम उत्तरी रामपुरी पोस्ट एवं थाना कोतवाली सिविल लाइन मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश, हाल निवासी- *गुरु गोविंद घाट निकट रानीपुर चौक हरिद्वार, उम्र 28 वर्ष
3- अजय पाल उर्फ बादल पुत्र श्री विनोद पाल निवासी ग्राम बरसात थाना जानसठ जिला मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश, हाल निवासी- गुरु गोविंद घाट निकट रानीपुर चौक हरिद्वार, उम्र 29 वर्ष

4. सचिन उर्फ चुन्ना पुत्र श्री वेदपाल निवासी जनकपुरी थाना सिविल लाइन जिला मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश उम्र 25 वर्ष बताएं।

वांछित अभियुक्त

संदीप पाल पुत्र श्री मनीराम निवासी ग्राम बड़ोद थाना सिखेड़ा जिला मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश

अपराधिक इतिहास

1- अभियुक्त विक्रांत त्यागी उर्फ विक्की त्यागी, कोतवाली सिविल लाइन जिला मुजफ्फरनगर का हिस्ट्रीशीटर है। जिसपर जनपद मुजफ्फरनगर के 25(पच्चीस)) व कोतवाली ऋषिकेश में 02(दो) मुकदमा पूर्व में पंजीकृत हैं।जिनमें से लूट के 09 (नौ), आर्म्स एक्ट के 04 (चार), हत्या का प्रयास के 04(चार), एक धोखाधड़ी व एक गैंगस्टर अधिनियम आदि के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत हैं।

2- अभियुक्त कपिल पाल उर्फ काला, उपरोक्त, अभियुक्त के विरुद्ध थाना सिविल लाइन जनपद मुजफ्फरनगर में लूट एवं हत्या का प्रयास के 05(पांच) मुकदमा पंजीकृत हैं।

3- अभियुक्त सचिन उर्फ चुन्ना, जनकपुरी थाना सिविल लाइन जिला मुजफ्फरनगर का हिस्ट्रीशीटर है। जिस पर जनपद मुजफ्फरनगर के थाना सिविल लाइन में कुल 22 मुकदमे पंजीकृत हैं। जिनमें 03 (तीन) मुकदमे लूट, 05(पाचं) मुकदमे आर्म्स एक्ट, 02(दो) मुकदमे चैन स्नैचिंग, 02(दो) गुंडा अधिनियम, व इसके अतिरिक्त हत्या का प्रयास जुआं/ बलवा आदि के मुकदमा पंजीकृत हैं।

4- अभियुक्त अजय पाल उर्फ बादल के विरुद्ध जनपद मुजफ्फरनगर में कुल 16 मुकदमे पंजीकृत हैं। जिनमें से लूट के 04 (चार), हत्या के प्रयास के 02 (दो), आर्म्स एक्ट के 05 (पाचं), इसके अतिरिक्त गैंगस्टर/ धोखाधड़ी व बलवा आदि के मुकदमा पंजीकृत हैं।

The post मुजफ्फरनगर के शातिर हिस्ट्रीशीटर ऋषिकेश पुलिस ने किए गिरफ्तार, खोली थी चाट की ठेली first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top