हरिद्वार: हरिद्वार जिले में अपराध कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। अपराध लगातार बढ़ते जा रहे हैं। बदमाश पुलिस के लिए चुनौती बन गए हैं। हरिद्वार के भलस्वागाज गांव में चोरों ने एक ही रात दो घरों को निशाना बनाकर लाखों के जेवर और हजारों की नकदी पार कर ली। चोरों ने दो और घरों में सेंध लगाने की कोशिश की, लेकिन ग्रामीणों ने लाइसेंसी हथियारों से हवाई फायरिंग शुरू कर दी। गोलियों की आवाज सुनकर चोर फरार हो गए।

इसके बाद ग्रामीणों ने जंगल में चारों की तलाश की, लेकिन कुछ नहीं पता चला। सूचना मिलने के बाद पुलिस गांव पहुंची और घटना की जानकारी ली। ग्रामीणों की ओर से पुलिस को तहरीर दी गई है। झबरेड़ा थाना क्षेत्र में चोरियों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। भलस्वागज गांव में बुधवार रात चोरों ने दुस्साहस दिखाते हुए सबसे पहले सुरेंद्र कुमार के घर को निशाना बनाया। छत के रास्ते घर में घुसे और पूरा घर खंगाल डाला। घर में सो रहे परिवार के लोगों को भनक तक नहीं लगी।

इसके बाद बिरम सिंह के घर घुसकर नकदी और जेवर चोरी कर लिए। यहां भी किसी को चोरों के आने से लेकर जाने तक की भनक नहीं लगी। चोर यहीं नहीं रुके, उन्होंने अशोक और बीर सिंह के घर में चोरी की कोशिश की, लेकिन पड़ोसियों की नींद खुल गई। चोरों को देख पड़ोसियों ने शोर मचा दिया। शोर सुनकर ग्रामीण जाग गए।

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस गांव पहुंची और जानकारी ली। पीड़ित सुरेंद्र कुमार ने बताया कि चोर घर से अलमारी में रखे 12 तोले सोने के जेवर, आधा किलो चांदी और 70 हजार की नकदी ले गए। बिरम सिंह ने बताया कि उनके घर से हजारों की नकदी और सोने-चांदी के जेवर चोरी हुए हैं। एसओ रविंद्र कुमार ने बताया कि तहरीर के आधार पर केस दर्ज किया जा रहा है। जल्द ही घटनाओं का खुलासा किया जाएगा।

भलस्वागाज में चोरी की घटना के बाद ग्रामीणों में तरह-तरह की चर्चाएं चल रही हैं। एक चर्चा यह भी है कि चोरी करने वाला गिरोह बाहर का है। गिरोह के बदमाश जिस घर में चोरी के लिए घुसते हैं, परिवार के लोगों को सोते समय कुछ नशीला पदार्थ सुंघा देते हैं। ऐसे में कितनी भी खटपट हो जाए, लेकिन लोगों की आंखें नहीं खुलती हैं। चर्चा है कि चोरों ने दोनों घरों के लोगों को भी कुछ सुंघाकर वारदात को अंजाम दिया है।

The post बड़ी खबर: सोते रह गए दो परिवार, चोर खंगाल ले गए घर, गोलियां भी चली first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top