दिनेशपुर: दिनेशपुर पुलिस नशा तस्करी को रोकने के दावे जरूर करती है, लेकिन थाने से महज एक किलोमीटर की दूरी पर स्मैक और शराब खुलेआम बेची जा रही है। जब ग्रामीणों ने विरोध किया तो कच्ची शराब बिक्री करने वालों ने ग्राम प्रधान और ग्रामीणों पर हमला कर दिया। इस दौरान कई लोगों को गंभीर चोटें भी आई।

दुर्गापुर गांव में पिछले कई महीने से कच्ची शराब और समैक तस्करी हो रही है। गांव वालों ने इसका विरोध किया। इसके बाद तस्करी के आरोपी गांव वालों के साथ अभद्रता करने लगे। अन्य लोगों रोकने का प्रयास किया तो, बीच-बचाव करने वालों पर ही हमला कर दिया। इसके बाद ग्राम प्रधान पहुंचे तो उनके साथ भी धक्का-मुक्की की गई।

पुलिस ने तहरीर के आधार पर कई कई लोगों पर मुकदमा दर्ज कर दिया है। ग्रामीणों का कहना है कच्ची शराब और स्मैक से कई परिवार बर्बाद हो गए हैं। लोगों की मौतें तक हो चुकी हैं। तस्करी बरने वाले जेल तो जाते हैं, लेकिन फिर बाहर आते ही काम शुरू कर देते हैं। पुलिस भी ऐसे लोगों पर निगरानी नहीं रखती है।

ग्रामीणों ने मांग की है कि पुलिस को सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। ग्राम प्रधान का कहना है कि हमने कई बार इनको समझाया। लेकिन, इनके अंदर कोई डर नहीं है। यह सुनने के तैयार नहीं हैं। पुलिस भी मजबूर है। पकड़ कर जेल भेज देते हैं, लेकिन बाहर आकर दोबारा कच्ची शराब बेचना शुरू कर देता हैं।

The post उत्तराखंड: शराब और स्मैक बेचने का विरोध कर रहे ग्रामीणों पर हमला, कई घायल first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top