देहरादून : अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी के निधन पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने दुख व्यक्त करते हुए कहा कि उन्हें नरेंद्र गिरी के निधन से दुख पहुंचा है, जहां तक उनके निधन पर जो सवाल उठाए जा रहे हैं, उसकी जांच कानून कर रहा है। सीएम ने कहा कि जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि अगर उत्तराखंड से भी किसी तरह की जांच की जरूरत पड़ी तो जांच में सहयोग किया जाएगा।

गणेश जोशी ने की सीबीआई जांच की मांग

वहीं अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी के निधन पर कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने भी दुःख प्रकट किया है और उनका निधन किन कारणों से हुआ है इसको लेकर सीबीआई जांच की मांग की है।बता दें कि नरेंद्र गिरी का पार्थिव शरीर अंतिम दर्शन के लिए रखा गया। सीएम योगी समेत अखिलेश यादव और कई दिग्गज मठ पहुंचे और नरेंद्र गिरी को श्रद्धांजलि अर्पित की। देश भर में नरेंद्र गिरी की मौत की खबर से शोक की लहर दौड़ गई है।

नरेंद्र गिरी के वकील का बयान-ये आत्महत्या नहीं

बता दें कि नरेंद्र गिरी का शव बीती शाम को फंदे से लटका मिला और साथ ही मौके पर एक 6-7 पन्नों का सुसाइड नोट मिलने की जानकारी भी पुलिस ने दी है। पुलिस जांच कर रही है। इसी के साथ पुलिस ने नरेंद्र गिरी के शिष्य को हरिद्वार से गिरफ्तार किया है जिसके नाम का जिक्र सुसाइड नोट में किया गया है। कइयों का कहना है कि ये सुसाइड नहीं मर्डर है. वहीं नरेंद्र गिरी के वकील का भी साफ तौर पर कहना है कि ये आत्महत्या नहीं है। ये जांच का विषय है कि ये हत्या है या आत्महत्या।

The post नरेंद्र गिरी के निधन पर CM धामी ने जताया दुख, कहा-जरुरत पड़ी तो की जाएगी जांच first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top