लखीमपुर खीरी मामले में नामजद मुख्य आरोपी केंद्रीय गृह राज्यमंत्री के बेटे आशीष मिश्रा को शनिवार रात 10:50 बजे गिरफ्तार कर लिया गया। बता दें कि क्राइम ब्रांच की टीम ने उनसे 12 घंटे की लंबी पूछताछ की और फिर बीती रात 12:48 पर सलाखों के पीछे भेजा। शासन द्वारा बनाई गई विशेष पर्यवेक्षण समिति के डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल ने पुलिस लाइन स्थित क्राइम ब्रांच के कार्यालय के बाहर आकर बताया कि हत्या अभियुक्त के तौर पर जांच में सहयोग न करने पर आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी की गई है।

देर रात आशीष की क्राइम ब्रांच कार्यालय में ही एसडीएम की उपस्थिति में मेडिकल जांच कराई गई। रात करीब 12.30 बजे क्राइम ब्रांच के कार्यालय से निकालकर उसे ड्यूटी मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया। पुलिस ने उसका 3 दिन का रिमांड मांगा। बचाव पक्ष के वकील ने इसका विरोध किया। इस पर ड्यूटी मजिस्ट्रेट ने आशीष को न्यायिक हिरासत में जेल भेजने का आदेश दिया। अगली सुनवाई अब सोमवार को होगी।

इससे पहले शनिवार की सुबह 10:40 मिनट पर केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी का पुत्र आशीष मिश्रा उर्फ मोनू क्राइम ब्रांच कार्यालय के सामने अचानक हाजिर हो गया, जबकि उसके समर्थक उनके पिता के संसदीय कार्यालय के नीचे मौजूद थे। आशीष मिश्रा के साथ लखीमपुर सदर विधायक योगेश वर्मा, अजय मिश्रा टेनी के प्रतिनिधि अरविंद सिंह संजय और जितेंद्र सिंह जीतू आशीष मिश्रा उर्फ मोनू को लेकर पुलिस लाइन के दफ्तर में आए.

The post लखीमपुर खीरी कांड : 12 घंटे पूछताछ, आधी रात को पेशी, मंत्री का बेटा गया जेल first appeared on Khabar Uttarakhand News.





1 comments:

See More

 
Top